Saturday, December 5, 2009

आज का सदविचार : उड़नतश्तरी

"समझदार व्यक्ति इसलिये बोलता है क्यूँकि उसके पास बोलने के लिए कुछ है. बेवकूफ व्यक्ति इसलिए बोलता है क्यूँकि उसे बोलना है."


उडन तश्तरी समीर लाल कनाडे वाले

10 comments:

Udan Tashtari said...

हम धन्य हुए. :)

Anonymous said...

समीर भाई... बधाई हो .. जीते जी ऐसा सौभाग्य बहुत कम लोगों को मिलता है । अपने पास तो यही बोलने को था सो बोल दिया ।हा हा हा

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

सत्य वचन :)

खुशदीप सहगल said...

गुरुदेव समीर जी के आगे तो हमारी बोलती बंद रहती है...बंद क्या घिग्घी बंध जाती है...

जय हिंद...

वाणी गीत said...

बोल दिए :)......!!

मनोज कुमार said...

बेहद पसंद आया।

अजय कुमार झा said...

अजी उनका कहा हर वाक्य ही सुविचार है ....हमारे लिए तो ...आपका आभार

ललित शर्मा said...

यह वाक्य सदविचार के कैलेन्डर मे नोट किया गया।
प्रचार - प्रसार के लिए आभार

पंकज शुक्ल said...

सत्यं ब्रूयात, प्रियम् ब्रूयात। ना ब्रूयात सत्यमप्रियम्।
पंकज शुक्ल
http://manjheriakalan.blogspot.com/

दिगम्बर नासवा said...

सदविचार ....... समीर भाई की वाणी से निकला सुंदर विचार ........... आपका भी आभार .........