Tuesday, December 8, 2009

तेलंगाना में चंद्रशेखर राव की तबीयत बिगड़ी,- हजारों की तादाद में लोग सड़कों पर उतरे


पूरे तेलंगाना इलाके में हालात बेकाबू हो गए हैं। हजारों की तादाद में लोग सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे हैं। सैकड़ों लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

बुधवार सुबह 15 हजार से ज्यादा स्टूडेंट उस्मानिय यूनिवर्सिटी कैंपस में जमा हुए और उन्होंने प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस दौरान उनकी पुलिस से झड़प भी हुई है। इस झड़प में काफी लोग घायल हुए हैं।

इससे पहले मंगलवार को आंध्र प्रदेश विधानसभा में अलग तेलंगाना राज्य के लिए प्रस्ताव लाए जाने में नाकाम रहने के बाद टीआरएस के सदस्यों ने इस मुद्दे पर सदन की कार्यवाही बाधित की और जमकर हंगामा हुआ। राज्य के मुख्यमंत्री के. रोसैया घबरा कर सोनिया गांधी की शरण में दिल्ली जा रहे हैं

निजाम इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के डायरेक्टर के. प्रसाद राव ने संवाददाताओं को बताया राव के चेकअप के बाद डॉक्टरों की टीमने महसूस किया कि उन्हें फौरन अनशन तोड़ देना चाहिए। लेकिन चंद्रशेखर राव उपवास तोड़ने के लिये राजी नहीं हुए। टीआरएस के नेता नयिनी नरसिम्हा रेड्डी ने बताया कि राव ने दवा लेने से भी इनकार कर दिया है, इससे स्थिति गंभीर रही है। उनके मुताबिक, वह पिछले एक हफ्ते से अधिक समय से ठोस आहार नहीं ले रहे हैं।

पूरे तेलंगाना क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन जारी है, जबकि टीआरएस के विधायकों ने राज्य विधानसभा की कार्यवाही स्थगित करने के लिए मजबूर कर दिया। इससे सदन में कोई कामकाज नहीं हो सका। टीआरएस ने मांग की कि इस क्षेत्र के मंत्री सहित कांग्रेस के विधायकों को इस्तीफा दे देना चाहिए, ताकि उनके पार्टी आलाकमान को जा संदेश जाए और एक अलग राज्य की उनकी मांग स्वीकार कर ली जाए।

4 comments:

Mired Mirage said...

हाँ, स्थिति तो बहुत गम्भीर होती जा रही है। जल्दी ही कोई हल न निकला तो वहाँ की आम जनता को बहुत कठिनाई झेलनी पड़ेगी।
घुघूती बासूती

राजीव रंजन प्रसाद said...

चन्द्रशेखर राव जी के आन्दोलन को जन समर्थन है लोकतंत्र को समझना होगा कि तेलंगाना वन-प्रांतर की समस्याओं को सही दृश्टि से तभी देखा जा सकेगा जब उसे राज्य का दर्जा मिले। हल जल्द निकलना चाहिये।

Suresh Chiplunkar said...

चलो, कांग्रेस की बदनीयतियों, राजनीतिक खेलों, वादाखिलाफ़ियों के मुकुट में एक कलगी और जुड़ गई…

मनोज कुमार said...

जानकारी के लिए शुक्रिया।