Tuesday, October 27, 2009

ट्रेन को हाईजैक करने वाले इन अपहर्ताओं के साथ क्या करना चाहिये?

आज दोपहर राजधानी एक्सप्रेस अपहर्ताओं द्वारा हाईजैक करली गई, ये अपहर्ता जेल में बंद अपने साथी की रिहाई चाहते हैं,

क्या करना चाहिये इन अपहर्ताओं के साथ?

4 comments:

Pandit Kishore Ji said...

inki maango ko manna nahi chahiye bhale hi iske liye chahe kitni hi qurbaniya deni pade varna hamesha aesi ghatnaaye hoti rahengi

jyotishkishore.blogspot.com

शरद कोकास said...

सत्ता जो चाहेगी वही होगा और कया ?

Vivek Rastogi said...

ऐसी राष्ट्रवाद/ देशभक्ति की बातें आजकल अच्छी नहीं लगती हैं, अरे बुरी लगती है तो लगने दो, राष्ट्रवाद की बात करनी है तो सबसे पहले इन नेताओं को रास्ते से हटाओ या देश के युवा को जागृत करो।

किसी का कुछ भी न हुआ पर जिनको अपना हित साधना था उन्होंने अपना हित साध लिया।

परमजीत बाली said...

शरद जी की बात सही है.....सरकार जो चाहे कर सकती है.....